Categories

वन विभाग में 59 जेओए (आईटी) के मुद्दे को हॉफ अजय श्रीवास्तव ने सुलझाया : प्रकाश बादल

शिमला : हिमाचल प्रदेश वन विभाग में पिछले लगभग एक वर्ष से एक ही बीच के 59 जेओए (आईटी) की सीनियरिटी का उलझा हुए मामले को हिमाचल प्रदेश वन विभाग के मुखिया अजय श्रीवास्तव ने निजी हस्तक्षेप के बाद सुलझा लिया है। यह जानकारी हिमाचल प्रदेश वन विभाग मिनिस्ट्रियल स्टाफ के अध्यक्ष प्रकाश बादल ने दी। प्रकाश बादल ने बताया कि पिछले एक वर्ष से वन विभाग में एक ही बैच में नियुक्त हुए 447 कोड के जेओए (आईटी) को अलग अलग सीनियोरिटी के अंतर्गत नियमित करने को लेकर काफी विवाद चल रहा था।
हिमाचल प्रदेश वन विभाग मिनिस्ट्रियल स्टाफ ने प्रधान मुख्य अरण्यपाल (हॉफ) अजय श्रीवास्तव से इस बारे विस्तार से चर्चा की और हॉफ ने इस पर गहन विचार करते हुई अनेक पहलुओं पर इसकी छानबीन की। अजय श्रीवास्तव ने वन विभाग के जिला न्यायवादी उमेश शर्मा से कानूनी सलाह लेने पर यह पाया कि कि उपरोक्त जेओए (आईटी) की सिनियोरिटी में विभागीय स्तर पर चूक हुई है और इसे सुलझाया जा सकता है ताकि विभाग को किसी प्रकार के न्यायालय के विवाद में न उलझना पड़े और विभाग के जेओए (आईटी) को न्याय मिल सके।
गौरतलब कि अनेक जेओए (आईटी) वन विभाग के मुखिया और हिमाचल प्रदेश वन विभाग मिनिस्ट्रियल स्टाफ के अध्यक्ष प्रकाश बादल को इस मामले को सुलझाने की काफी गुहार लगा रहे थे।
वन विभाग के मुखिया अजय श्रीवास्तव द्वारा इस मामले को सुलझाने के लिए हिमाचल वन विभाग मिनिस्ट्रियल स्टाफ के अध्यक्ष प्रकाश बादल ने वन बल मुखिया (हॉफ) का हार्दिक धन्यवाद किया है। उन्होंने अजय श्रीवास्तव को कर्मचारी हितैषी बताते हुए उनकी कार्यशैली की प्रशंसा की है। इस सन्दर्भ में हिमाचल प्रदेश वन विभाग मिनिस्ट्रियल स्टाफ के अध्यक्ष प्रकाश बादल की अध्यक्षता में जेओए (आईटी) का एक प्रतिनिधिमंडल भी हॉफ से मिला और उन्होंने हॉफ को गुलदस्ता भेंट कर धन्यवाद किया। इस अवसर पर अजय श्रीवास्तव ने एसोसिएशन के अध्यक्ष को आश्वस्त किया कि वे हमेशा से वन विभाग के सभी अधिकारियों व कर्मचारियों के हितैषी रहे हैं और हमेशा उनका नजरिया हमेशा छोटे कर्मचारियों के हितों की विशेष तौर पर रक्षा करने का है।

अधीक्षक ग्रेड-।। के तीन पद तैनाती
हिमाचल प्रदेश वन विभाग मिनिस्ट्रियल स्टाफ के अध्यक्ष प्रकाश बादल ने कहा कि एक अन्य मामले में हिमाचल प्रदेश वन विभाग मिनिस्ट्रियल स्टाफ के अध्यक्ष प्रकाश बादल द्वारा वन विभाग के तीन अधीक्षक ग्रेड-।। के रिक्त पड़े सात पदों के स्थान पर सिर्फ चार पदों को ही भरने के निर्णय पर लिखित और मौखिक रूप से जताई गई आपत्ति का कड़ा संज्ञान लेते हुए अजय श्रीवास्तव ने तीन एनी अधीक्षक ग्रेड-।। के रिक्त पदों पर वरिष्ठ सहायकों में से अधीक्षक ग्रेड-।। के रूप में कार्यालय आदेश संख्या 1107/2022 दिनांक 27.12.2022 के अंतर्गत पदोन्नत कर दिया गया है। इन आदेशों के अंतर्गत सी सी एफ ईको टूरिज्म में कार्यरत वरिष्ठ सहायक राजेश वर्मा, नाहन वृत्त में कार्यरत मंजीत सिंह तथा रामपुर वृत्त में कार्यरत अनिल कुमार को अधीक्षक ग्रेड-।। के पद पर पदोन्नत किया गया है। हिमाचल प्रदेश वन विभाग मिनिस्ट्रियल स्टाफ के अध्यक्ष प्रकाश बादल ने हॉफ अजय श्रीवास्तव का आभार व्यक्त करते हुए बताया है कि अजय श्रीवास्तव ने इन आदेशों के माध्यम से यह प्रमाणित किया है कि वे कर्मचारियों के निजी और जायज़ हितों को बहाल करने में कार्यकुशलता और विवेक से निर्णय लेने में सक्षम हैं।