Categories

कोविड-19 वैक्सीनेशन, खसरा रूबेला और नियमित टीकाकरण के संदर्भ में जिला स्तरीय निगरानी समिति की बैठक का आयोजन

????????????????????????????????????

सोलन : कोविड-19 वैक्सीनेशन, खसरा रूबेला और नियमित टीकाकरण के संदर्भ में आज यहां जिला स्तरीय निगरानी समिति की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक की अध्यक्षता उपायुक्त सोलन कृतिका कुलहरी ने की। कृतिका कुलहरी ने जानकारी देते हुए बताया कि 18 से 59 आयु वर्ग के लोगों को एहतियात तौर पर कोविड शिल्ड की डोज केवल निजी स्वास्थ्य संस्थानों में ही निर्धारित धनराशि देकर लगाई जाएगी जिसका वहन व्यक्ति द्वारा स्वयं किया जाएगा। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि अब एहतियात तौर पर कोविड शिल्ड की डोज सरकारी स्वास्थ्य केन्द्रों में न लगाकर केवल निजी स्वास्थ्य संस्थानों में ही लगवाना सुनिश्चित करें।
उपायुक्त ने कहा कि 5-12 साल के बच्चों को कोरोना वैक्सीन की डोज लगवाने का कार्य शीघ्र प्रारम्भ किया जाएगा। ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीसीजीआई) ने मंगलवार को इसकी मंजूरी दे दी है। उन्होंने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को 12 से 14 आयु वर्ग के बच्चों की कोविड वैक्सीनेशन से छूटे हुए बच्चों की रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए ताकि इस वर्ग में कोविड वैक्सीनेशन का लक्ष्य प्राप्त किया जा सके। उन्होंने 12 से 14 आयु वर्ग के बच्चों से कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए सहयोग की अपील भी की।
बैठक के दौरान विश्व स्वास्थ्य संगठन के निगरानी समिति के चिकित्सा अधिकारी डॉ. गगन और डॉ. मेघा प्रकाश ने जानकारी देते हुए बताया कि स्वास्थ्य संस्थान मे जन्म लेने वाले सभी बच्चों को बी.सी.जी. का टीका और पोलियो की अतिरिक्त खुराक (जीरो डोज) जन्म के समय दी जाती है। उन्होंने कहा कि यदि भूल वश कोई टीका छूट गया है, तो स्वास्थ्य कार्यकर्ता एवं चिकित्सक से सम्पर्क कर टीका लगवाना सुनिश्चित करें।
उन्होंने कहा कि सभी टीके उप स्वास्थ्य केन्द्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, राजकीय चिकित्सालयों पर नि:शुल्क लगाए जाते हैं। बच्चों में बी.सी.जी. का टीका, डी.पी.टी. की तीन खुराकें, पोलियो की तीन खुराकें व खसरे का टीका नवजात शिशु के एक वर्ष की आयु से पूर्व लगवाना नितांत आवश्यक है। उन्होंने बताया कि मामूली खांसी, सर्दी, दस्त और बुखार की अवस्था में भी यह सभी टीके लगवाना सुरक्षित है। बैठक में गृह रक्षक समादेशक शिव कुमार, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. राजन उप्पल, उपमण्डलाधिकारी कसौली डॉ. संजीव धीमान, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मुक्ता रस्तोगी तथा निजी स्वास्थ्य संस्थान से डॉ. एन.के गुप्ता सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।