Categories

राज्यपाल ने भुन्तर स्थित एकीकृत नशामुक्ति एवं पुनर्वास केन्द्र का दौरा किया

कुल्लू : राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर ने आज कुल्लू जिला के भुन्तर स्थित प्रदेश में महिलाओं के लिए पहले एकीकृत नशामुक्ति एवं पुनर्वास केन्द्र का दौरा किया। उन्होंने वहां कार्यरत परामर्श चिकित्सकों से वहां प्रदान की जा रही सुविधाओं व अन्य विषयों पर जानकारी प्राप्त की और केन्द्र में उपचाराधीन लोगों से बातचीत भी की। राज्यपाल ने उनके द्वारा बनाई गई पेंटिंग का अवलोकन भी किया और उनके प्रयासों की सराहनाकी।
इस अवसर पर उपचाराधीन लोगों से बातचीत करते हुए राज्यपाल ने उन्हें अपनी गलतियों को सुधारने, स्वस्थ जीवन अपनाने के लिए स्वयं को प्रेरित करने तथा सकारात्मक सोच के साथ घर वापस लौटने की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने कहा कि यहां उपचाराधीनलोगों को स्वयं को किसी न किसी कार्य में व्यस्त रखना चाहिए क्योंकि प्रत्येक व्यक्तिउनकी सहायता के लिए तत्पर है।
इस परिसर में लड़कों के लिए 20 बिस्तर क्षमता का अलग पुनर्वास केन्द्र स्थापित किया गया है जबकि महिला केन्द्र की क्षमता 15 बिस्तर की है। महिला केन्द्र की देख-रेख जिला रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा की जा रही है। यह भी बताया गया कि 29 जून, 2022 से संचालित किए जा रहे इस केन्द्र में 140 महिलाएं ओपीडी सुविधा प्राप्त कर रही हैं और उनका नि:शुल्क उपचार किया जा रहा है।
इस अवसर पर उपायुक्त आशुतोष गर्ग और पुलिस अधीक्षक गुरदेव शर्मा सहित अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे। इससे पूर्व राज्यपाल ने मनाली के सुप्रसिद्ध हिडिम्बा मंदिर में पूजा-अर्चना की और ऋषि विशिष्ठ के मंदिर में भी शीश नवाया।