Categories

शिक्षा व्यवस्था पर प्रदेश की पोल खुलने पर घबराए शिक्षा मंत्री गोविंद ठाकुर, सच्चाई सामने आने पर पर्दा डालने का कर रहे काम : गौरव शर्मा

शिमला : मंगलवार को शिमला में हुए एक शिक्षा जन संवाद कार्यक्रम के तहत दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया द्वारा प्रदेश सरकार की शिक्षा व्यवस्था की पोल खोलने के बाद हिमाचल प्रदेश के शिक्षा मंत्री पूरी तरह से घबरा गए हैं। शिक्षा मंत्री प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था की सच्चाई सामने आने के बाद मीडिया में एक बयान जारी कर हकीकत पर पर्दा डालने की कोशिश कर रहे हैं। शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर के बयान पर आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता गौरव शर्मा ने निंदनीय करार दिया और उन पर उल्टा हमला करते हुए कहा कि शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर अब पोल खुलने के बाद पर्दा डालने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था की दयनीय हालत को लेकर सिर्फ आम आदमी पार्टी ही नहीं बल्कि आम जनता चाहे वह चंबा, मंडी, कांगड़ा या कुल्लू हो सभी जिलों में शिक्षकों की कमी और स्कूलों की दयनीय हालत को लेकर सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन कर रही है।
गौरव शर्मा ने कहा कि शिक्षा संवाद पर हिमाचल प्रदेश के शिक्षा मंत्री द्वारा गैर जिम्मेदाराना बयान दिया गया है। प्रदेश में कहां तो शिक्षा पर उन्हें बेहतरी की बात करनी चाहिए तो कहां वो ऐसे बयान देने में लगे है। शर्मा ने कहा कि गोविंद ठाकुर कह रहे हैं कि दिल्ली में स्कूल कम हैं और जनसंख्या भी कम हैं और प्रदेश की जनता 70 लाख है और स्कूल 15 हजार से ज्यादा हैं। लेकिन हम उन्हें बताना चाहते हैं कि दिल्ली की जनसंख्या ढाई करोड़ के पार है और दिल्ली के स्कूल पिछले 7 सालों में देश के लिए मॉडल बनकर उभरे हैं। जहां एक ही सत्र में 4 लाख छात्र निजी स्कूलों को छोड़कर सरकारी स्कूलों में एडमिशन ली है और दूसरी ओर हिमाचल में 2 लाख छात्र सरकारी स्कूलों को छोड़कर निजी स्कूलों में जा रहे हैं। क्योंकि प्रदेश की भाजपा सरकार ने सरकारी स्कूलों की हालत ऐसी कर दी है जहां 2 हजार से ज्यादा स्कूल एक एक शिक्षक के सहारे चल रहे हैं। और 47 फीसदी स्कूलों में प्रिंसिपल ही नहीं है। स्कूलों में न शौचालय और न ही खेल मैदान उपलब्ध है। सरकार सिर्फ और सिर्फ निजी स्कूलों को प्रमोट कर सरकारी स्कूलों को बर्बाद करने पर तुली हुई है। जिससे आम जनता और स्कूल में पढऩे वाला गरीब का बच्चा शिक्षा से वंचित हो रहा है। वहीं जो थोड़ा बहुत साधन संपन्न परिवार है उसे मजबूरन निजी स्कूलों में महंगी फीस चुकाकर अपने बच्चों को पढ़ाना पड़ रहा है।
गौरव शर्मा ने कहा कि आम आदमी पार्टी प्रदेश के सीएम और सरकार के किसी भी मंत्री और साथ ही शिक्षा मंत्री गोविंद ठाकुर को खुली चुनौती है कि वे शिक्षा व्यवस्था पर खुला संवाद जहां वो चाहे मनीष सिसोदिया के साथ करे, वे दिल्ली आकर स्कूल देखें या डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया को बुलाएं और चर्चा करें। आम आदमी पार्टी काम करने में विश्वास रखती है और जो कहती है वह करती है।
गौरव शर्मा ने मंत्री के बयान की कड़ी भत्र्सना करते हुए कहा कि जिसमें शिक्षा मंत्री गोविंद ठाकुर ने आम आदमी पार्टी के नेताओं को गुंडा कहा है मंत्री के इस बयान की आम आदमी पार्टी कड़ी निंदा करती है और शिक्षा मंत्री इस बयान पर माफी मांगे और देश की जनता भली भांति जानती है कि भाजपा में कितने नेता हैं जिन पर सैंकड़ों आपराधिक मामले चल रहे हैं और अन्य दलों से भाजपा में जाते ही सारे अपराध और पाप धुल जाते हैं।