Categories

कांग्रेस को हंगामा करने की आदत, भाजपा ने बदली राजधानी की तस्वीर

शिमला : राजधानी शिमला में हुए विकास कार्यों को देख कांग्रेस नेताओं की आंखें खुली की खुली रह गई हैं। इतना ही नहीं इनका स्तर इतना गिर गया है कि अब लोगों के बीच शहर में हुए विकास कार्यों का झूठा श्रेय लेने से भी नहीं चूक रहे हैं।
यहां जारी संयुक्त बयान में भाजपा शिमला मंडल अध्यक्ष राजेश शारदा, पार्षद विदुषी शर्मा, किसान मोर्चा के जिला अध्यक्ष संजीव चौहान पिंकू एवं विनय सूद ने पूर्व पार्षद सुरेंद्र चौहान पर ये आरोप लगाए हैं। उनका कहना है कि बीते रोज छोटा शिमला में व्यवसायिक परिसर का उद्घाटन शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने किया है। यह व्यवसायिक परिसर 1 करोड़ 44 लाख की लागत से बनकर तैयार हुआ है। इसका लोकार्पण करने के बाद वहां पर कांग्रेस के पूर्व पार्षद सुरेंद्र चौहान ने ज्ञापन देने के बहाने हंगामा खड़ा कर दिया। इतना ही नहीं हंगामे का वीडियो तक बनवा डाला। ये सब पूर्व नियोजित साजिश के चलते किया गया कार्य है।
भाजपा नेताओं का आरोप है कि ज्ञापन देने के बहाने सुरेंद्र चौहान ने अभद्र भाषा का प्रयोग करना भी निंदनीय है। उन्होंने कहा कि छोटा शिमला में लगातार हो रहे विकास कार्यों को देखते हुए कांग्रेसी पार्षद घबरा गए हैं, जिससे उनको यह साफ साफ दिखाई दे रहा है कि उनकी राजनीतिक जमीन यहां पर खत्म हो चुकी है, जिसके तहत एक भरी सभा में शर्मनाक कृत्य को अंजाम देने की कोशिश पार्षद द्वारा एक सोची-समझी चाल थी। भाजपा नेताओं ने इस तरह के कृत्य किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण बताया है।
छोटा शिमला में लगातार हो रहे विकास कार्य को देखकर पूर्व पार्षद डर गए हैं। उन्होंने कहा कि इसके अलावा छोटा शिमला में एक करोड़ की लागत से कार पार्किंग भी बनाई जा रही है और तिब्बतियन स्कूल के पास पेडेस्टल पाथ का निर्माण भी करवाया जा रहा है। इसकी स्वीकृति मिल चुकी है। लंबे समय से लोगों की मांग थी कि छोटा शिमला में शौचालय बनाया जाए तो वह भी बनकर तैयार हो गया है और भी बहुत से विकास कार्य लगातार छोटा शिमला के अंदर चल रहे हैं। जिससे घबराकर ऐसे कार्य करने पर उतर आए हैं इसलिए छोटा शिमला वार्ड की समस्त कार्यकर्ताओं ने इसकी घोर निंदा करती है।