मुख्यमंत्री ने डॉ. राजेन्द्र प्रसाद चिकित्सा महाविद्यालय टांडा में 80 लाख रुपये से स्थापित डायलिसिस इकाई का लोकार्पण किया

शिमला : मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने डॉ. राजेन्द्र प्रसाद राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय टांडा में 80 लाख रुपये की लागत से स्थापित डायलिसिस इकाई का लोकार्पण करने के उपरान्त अपने सम्बोधन में कहा कि राज्य सरकार ने गरीब और जरूरतमंदों को सुलभ स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने को सर्वोच्च प्राथमिकता प्रदान की है और इसके लिए राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री हिमकेयर योजना आरम्भ की है। इस योजना के अन्तर्गत अभी तक लगभग 225 करोड़ रुपये व्यय कर 2.20 लाख रोगियों को नि:शुल्क उपचार सुविधा प्रदान की गई है।
उन्होंने कहा कि लगभग 100 रोगियों को प्रतिमाह डायलिसिस के लिए चण्डीगढ़ या राज्य से बाहर अन्य संस्थानों में जाना पड़ता था, जिन्हें अब यह सुविधा टांडा में ही उपलब्ध हो सकेगी। यह डायलिसिस सुविधा आयुष्मान व हिमकेयर कार्डधारकों के लिए नि:शुल्क होगी तथा गैर कार्डधारकों को इसके लिए 1047 रुपये का भुगतान करना होगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले केवल रेडक्रॉस और मुख्यमंत्री राहत कोष के माध्यम से ही जरूरतमंद रोगियों को सहायता दी जा रही थी जबकि अब हिमकेयर योजना आरम्भ होने के उपरान्त यह योजना रोगियों की सहायता का एक सशक्त साधन बन चुकी है। जय राम ठाकुर ने कहा कि टांडा मेडिकल कॉलेज में शीघ्र ही पैट स्कैन (पीईटी) मशीन तथा आधुनिक एमआरआई की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी, जिससे कांगड़ा व निकटवर्ती जिलों के लोग लाभान्वित होंगे। उन्होंने कहा कि चिकित्सा महाविद्यालय टांडा में शीघ्र सीटी स्कैन मशीन भी लगाई जाएगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि टांडा मेडिकल कॉलेज की वर्तमान छात्रावास सुविधाओं के विस्तार को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाएगी, जिसके लिए दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं। इसके उपरान्त, मुख्यमंत्री ने टांडा चिकित्सा महाविद्यालय के विभागाध्यक्षों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की।
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री सरवीण चौधरी, नगरोटा के विधायक अरूण कुमार, टांडा चिकित्सा महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. भानू आवस्थी, उपायुक्त डॉ. निपुण जिन्दल और पुलिस अधीक्षक डॉ. कुशाल शर्मा भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *