Categories

चौधरी फाउंडेशन का गगल हवाईअड्डे के विस्तार के विरोध में 10 मार्च को भूख हड़ताल

परियोजना कृषि भूमि और लोगों की आजीविका को कर देगी तबाह : चौधरी फाउंडेशन

कांगड़ा : चौधरी फाउंडेशन गगल हवाईअड्डे के विस्तार के विरोध में 10 मार्च, 2024 को कांगड़ा जिले के गगल में एक भूख हड़ताल का आयोजन कर रहा है। यह जानकारी चौधरी फाउंडेशन के प्रवक्ता दीपक चौधरी ने दी। उन्होंने कहा यह विस्तार परियोजना क्षेत्र की कृषि भूमि को नष्ट कर देगी और स्थानीय लोगों की आजीविका को खतरे में डाल देगी।

चौधरी ने कहा प्रस्तावित विस्तार में हवाईअड्डे के आसपास की महत्वपूर्ण कृषि भूमि का अधिग्रहण शामिल है। इससे न केवल खाद्य सुरक्षा को खतरा होगा बल्कि क्षेत्र के किसानों की आजीविका का भी स्रोत छिन जाएगा। गगल क्षेत्र अपनी समृद्ध कृषि परंपरा के लिए जाना जाता है, और यह विस्तार परियोजना पीढिय़ों से चली आ रही इस परंपरा को नष्ट कर देगी।

इस विस्तार से गगल क्षेत्र के निवासियों पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा। विस्तार से क्षेत्र के सांस्कृतिक और पारंपरिक मूल्यों पर भी असर पड़ सकता है। चौधरी फाउंडेशन को गगल हवाईअड्डे के विस्तार के विरोध में पूरे देश से और साथ ही विदेशों में रहने वाले भारतीयों से भी भारी समर्थन मिल रहा है।

उन्होंने कहा 10 मार्च को होने वाली भूख हड़ताल चौधरी फाउंडेशन और क्षेत्र के लोगों द्वारा गगल हवाईअड्डे के विस्तार के विरोध में अपनी आवाज बुलंद करने का एक प्रयास है। भूख हड़ताल का उद्देश्य सरकार और विमानन प्राधिकरण का ध्यान इस परियोजना के विनाशकारी परिणामों की ओर खींचना है।

प्रवक्ता ने कहा चौधरी फाउंडेशन सभी संबंधित पक्षों से गगल हवाईअड्डे के विस्तार परियोजना पर पुनर्विचार करने का आह्वान करता है। फाउंडेशन का मानना है कि स्थानीय समुदायों को ध्यान में रखते हुए विकास की वैकल्पिक योजनाएँ बनाई जा सकती हैं।

उन्होंने कहा चौधरी फाउंडेशन गगल क्षेत्र के निवासियों, पर्यावरण कार्यकर्ताओं, सामाजिक कार्यकर्ताओं और इस विनाशकारी परियोजना के खिलाफ खड़े होने वाले सभी लोगों से 10 मार्च को होने वाली भूख हड़ताल में शामिल होने का आग्रह करता है। एकजुट होकर हम अपनी आवाज बुलंद कर सकते हैं और गगल क्षेत्र के भविष्य की रक्षा कर सकते हैं।