Categories

पर्यटकों को आकर्षित करेगा केबल स्टेड पुल

मंडी : कुल्लू राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे हणोगी मन्दिर के समीप बना केबल स्टेड पुल आधुनिकता की मिशाल बन कर तैयार हो गया है। हिमाचल का यह पहला केबल स्टेड पुल पर्यटकों को आकर्षित करेगा। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने गत सोमवार को विधिवत पूजा अर्चना कर इसका लोकार्पण किया। पुल न होने से इस क्षेत्र की जनता को कठिनाईयों का सामना करना पड़ता था। विधायक रहते 10 वर्ष पूर्व उन्होंनेे इस पुल के निर्माण को विधायक प्राथमिकता में डाला था। किन्तु इस पुल का निर्माण न हो सका। मुख्यमंत्री बनने के पश्चात उन्होंने इस पुल का शिलान्यास किया और अब यह पुल बन कर तैयार हो गया।
मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कहा कि हणोगी के पास ब्यास नदी पर निर्मित केबल स्टेड पुल प्रदेश का पहला ऐसा पुल है जो नई तकनीकी से बनाया गया है । इस पुल के निर्माण पर 25 करोड़ रुपये की लागत आई है तथा केबल स्टेड पुल के बन जाने से क्षेत्र की लगभग 15 पंचायतों को आने-जाने की बेहतर सुविधा उपलब्ध हुई है जबकि पूर्व में इस क्षेत्र तक पहुंचने के लिए 50-60 किलोमीटर का सड़क मार्ग तय करके पहुंचना पड़ता था ।
उन्होंने बताया कि पूर्व में जब वे इस दुर्गम क्षेत्र के प्रवास पर जाते थे, तो राष्ट्रीय उच्च मार्ग पर गाड़ी पार्क कर इस इलाके का पैदल भ्रमण किया करते थे । तब मैंने अधिकारियों से क्षेत्र को जोडऩे के लिए ब्यास नदी पर स्पेन पुल बनाने की बात कर उसे विधायक प्राथमिकता में डाला, परन्तु अधिक समय व धन व्यय होने की वजह से यह टैंडर रद्द हो गया था। वर्ष 2018 में भाजपा की सरकार बनने पर मैंने इस ऐतिहासिक केबल स्टैड पुल का शिलान्यास किया तथा गत दिन इसे लोगों को समर्पित कर दिया। उन्होंने बताया कि इस पुल के निर्मित हो जाने से जहां स्थानीय लोगों को बेहतर यातायात की सुविधा उपलब्ध हुई है वही क्षेत्र में पर्यटन की अपार संभावनाओं को देखते हुए पर्यटक भी क्षेत्र की ओर आकर्षित होंगे।