लिंग आधारित हिंसा की रोकथाम के लिए सभी विभाग तत्परता के साथ कार्य करे : राहुल चौहान

शिमला : अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी (कानून एवं व्यवस्था) राहुल चौहान की अध्यक्षता में आज यहां लिंग आधारित भेदभाव के खिलाफ अभियान के लिए गठित जिला स्तरीय समिति की बैठक का आयोजन किया गया। उन्होंने बताया कि भारत सरकार के ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा संचालित यह अभियान 25 नवंबर, 2022 से पूरे भारत वर्ष में शुरू किया गया है। ग्रामीण क्षेत्रों में लिंग आधारित हिंसा के बारे में लोगो को संवेदनशील बनाने तथा पीडि़तों की मदद के लिए उपलब्ध विभिन्न संस्थागत तंत्रों के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए यह अभियान कारगर साबित होगा। इस दृष्टि से सभी विभागों को आपस में समन्वय स्थापित कर कार्य करने की आवश्यकता है ताकि जिला में लिंग आधारित हिंसा पर रोक लगाई जा सके।
उन्होंने कहा कि कार्यक्रम के अंतर्गत जिला के खंड स्तर पर जागरूकता शिविर का भी आयोजन किया जायेगा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा शुरू किया गया यह आंदोलन लैंगिक हिंसा के मामलों को चर्चा के केंद्र में लाना और उनके अधिकारों के संरक्षण के लिए उपलब्ध नियमों व उपलब्ध तंत्र व उपायों के जरिए उनकी समस्या या शिकायतों के समाधान की जानकारी देना है।
उन्होंने इस संदर्भ में विभिन्न विभागों द्वारा किए जाने वाले कार्यों से भी अवगत करवाया। उन्होंने ग्रामीण विकास विभाग को अभियान में और अधिक बल देने के निर्देश दिए ताकि अभियान का उद्देश्य पूर्ण हो सके। उन्होंने कहा कि जिला के सरकारी आयोजनों में भी लोगों को इस बारे में जागरूक करने की आवश्यकता है। बैठक में परियोजना अधिकारी डीआरडीए सुरजीत सिंह, जिला कार्यक्रम अधिकारी आईसीडीएस ममता पॉल एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *